best sexologist in india
संपर्क करे [24 x 7]
हमसे संपर्क करे :   + 91-9873322916
हमसे संपर्क करे :   + 91-9667987682
हमसे संपर्क करे :   + 91-011-26567455
Email : drvinodbhartiraina@gmail.com
Swapandos ka Ilaj

पुरुषों और महिलाओं में बांझपन (Infertility in Men and Women)

अगर कोई भी युगल बांझपन समस्या का सामना कर रहा हैं | ये समस्या नियमित रूप से असुरक्षित यौन संबंध नहीं बनाने के कारण महिलाओ में गर्भधारण नहीं हो पाता हैं | आज कल पुरुष और महिला बाँझपन एक कठोर समस्या बन चुकी है और जीवन में बच्चे का न होना एक निराशा का कारन बन गया हैं। लाइफ स्टाइल, आहार- विषयक (डाइटरी) परिवर्तन के साथ साथ सही इलाज को अपनाके इस निराशा को जीवन से दूर किया जा सकता हैं।

पुरुषों में बांझपन के कारण (Infertility in Men)


  1. कम शुक्राणु गिनती: अगर किसी पुरुष में 15 मिलियन से कम आयु के शुक्राणु की संख्या को कम माना जाता हैं उस पुरुष के लिए | यही कारण हैं की कम शुक्राणुओं की संख्या के कारण एक तिहाई जोड़ों को गर्भ धारण करने में बहुत कठिनाई होती है।
  2. कम शुक्राणु गतिशीलता (गतिशीलता): शुक्राणु अंडे तक पहुंचने के लिए उन्हें "तैरना" नहीं दे सकते हैं।
  3. असामान्य शुक्राणु: अगर पुरुष के शुक्राणु का एक असामान्य आकार से हो, जिससे अंडे को स्थानांतरित करना और निषेचन करना कठिन हो जाता है।

महिलाओं में बांझपन के कारण (Infertility in Women)


  1. उम्र: गर्भ धारण करने की क्षमता काम हो जाता अगर कोई महिला 32 वर्ष की आयु के हो |
  2. धूम्रपान: अगर किसी युगल में कोई भी धूम्रपान करता हैं तो उन दोनों में बांझपन का खतरा बढ़ जाता है और यह प्रजनन उपचार के प्रभावों को कम कर सकता है।
  3. शराब: अगर आप किसी भी मात्रा में शराब का सेवन तो गर्भधारण की संभावना काम कर सकता है।
  4. मोटापा या अधिक वजन होना: मोटापा एक बहुत बड़ी कारण बांझपन इससे ना की महिलाओं में पुरुष में बांझपन हो सकता हैं |
  5. ईटिंग डिसऑर्डर: अगर एक ईटिंग डिसऑर्डर से गंभीर वजन घटता है, तो प्रजनन संबंधी समस्याएं पैदा हो सकती हैं।
  6. आहार: फोलिक एसिड, जस्ता, लोहा, और विटामिन B-12 की कमी हमारे प्रजनन क्षमता को प्रभावित कर सकती है। जो महिलाएं जोखिम में हैं, जिनमें शाकाहारी आहार शामिल हैं, उन्हें डॉक्टर से पूरक आहार के बारे में पूछना चाहिए और डॉक्टर के बताये हुआ आहार लेना चाहिए।
  7. व्यायाम: अगर आप बहुत अधिक और बहुत कम व्यायाम करते हैं तो ये दोनों से प्रजनन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।
  8. यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई): क्लैमाइडिया एक महिला में फैलोपियन ट्यूब को नुकसान पहुंचा सकता है और एक आदमी के अंडकोश में सूजन पैदा कर सकता है। कुछ अन्य एसटीआई भी बांझपन का कारण हो सकते हैं।
  9. कुछ रसायनों के संपर्क में: कुछ कीटनाशकों, शाकनाशियों, धातुओं, जैसे सीसा, और सॉल्वैंट्स को पुरुषों और महिलाओं दोनों में प्रजनन समस्याओं से जोड़ा गया है। एक माउस अध्ययन ने सुझाव दिया है कि कुछ घरेलू डिटर्जेंट की सामग्री प्रजनन क्षमता को कम कर सकती है।
  10. मानसिक तनाव: यह महिला ओव्यूलेशन और पुरुष शुक्राणु उत्पादन को प्रभावित कर सकता है और यौन गतिविधि को कम कर सकता है।

डॉक्टर विनोद रैना के केंद्र- सेफ हैंड्स एक विशेषकृत (स्पेशलिज़्ड ) केंद्र है जहाँ पुरुष और महिला बाँझपन का इलाज बड़ी आसानी से किया जाता हैं।

संपर्क करे
Dr. RAINA'S
SAFE HANDS
इ -34 एकता अपार्टमेंट ,साकेत ,
मालवीय नगर मेट्रो स्टेशन के निकट ,
नई दिल्ली - 110017

हमसे संपर्क करे :   + 91-9873322916
हमसे संपर्क करे :   + 91-9667987682
हमसे संपर्क करे :   + 91-011-26567455
: drvinodbhartiraina@gmail.com
हमारा पता
2018 © Dr Raina's SAFF HANDS , All rights reserved